बाबा रामदेव की कंपनी से क्या आया था ‘मेसेज’, जो सेबी ने उठा लिया इतना बड़ा कदम

What was the ‘message’ from Baba Ramdev’s company, which SEBI took such a big step:रुचि सोया के 4,300 करोड़ रुपये के फॉलो-ऑन पब्लिक ऑफर (एफपीओ) में कुछ विदड्रॉल किया गया है। बीएसई पर सुबह करीब पौने 11 बजे तक कुल आवेदन (मांग) के आंकड़े सोमवार को 3.6 गुना की तुलना में 2.58 गुना तक घट गए। रुचि सोया बाबा रामदेव की पतंजलि के स्वामित्व वाली कंपनी है। बीएसई के आंकड़ों के अनुसार कुल रिटेल मांग पिछले दिन के 0.90 गुना से गिरकर 0.39 गुना रह गई। गैर-संस्थागत निवेशकों (एनआईआई) के लिए आरक्षित कोटे के पिछले दिन के 11.75 गुना की तुलना में 9 गुना आवेदन रह गए। वहीं कर्मचारियों के लिए आरक्षित कोटे में भी निकासी देखी गई और यह पिछले सत्र के 7.76 गुना की तुलना में 4.56 गुना रह गए। इस बीच योग्य संस्थागत बोलीदाताओं (क्यूआईबी) का कोटा पिछले सत्र में 2.2 गुना के मुकाबले 1.6 गुना रहा।

सेबी का आदेश

रुचि सोया का यह इश्यू सोमवार को बंद हो गया और कोई नया आवेदन स्वीकार नहीं किया जा रहा है। इस बीच, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड ने रुचि सोया को “अनचाहे एसएमएस” के प्रचलन का हवाला देते हुए, फर्म के एफपीओ की सदस्यता लेने वाले एंकर निवेशकों के अलावा अन्य निवेशकों को अपना आवेदन वापस लेने के लिए बुधवार तक एक विंडो देने का निर्देश दिया है।

मैसेज में मिली गड़बड़

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने कहा कि मैसेज का कंटेंट “भ्रामक / धोखाधड़ी” लग रहा है और नियमों का पालन नहीं करता है। इस पर कंपनी ने कहा कि मैसेज हमारी कंपनी या हमारे किसी निदेशक, प्रमोटर, प्रमोटर समूह या समूह की कंपनियों द्वारा जारी नहीं किया गया था। रुचि सोया ने कहा कि उसने अपने एफपीओ के संबंध में अवांछित मैसेज (एसएमएस) के प्रसार के खिलाफ जांच करने के लिए एक प्राथमिकी भी दर्ज की है।

क्या लिखा है मैसेज में

सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 67 ए और भारतीय दंड संहिता, 1860 की धारा 420 के तहत मैसेज के प्रसार के संबंध में जांच करने के लिए रुचि सोया ने हरिद्वार के एक पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की गई है। सोशल मीडिया में प्रसारित होने वाले एसएमएस/संदेश में रुचि सोया के एफपीओ में निवेश के अवसरों के बारे में अनुमान लगाया गया है और कहा गया है कि यह इश्यू बाजार मूल्य पर भारी छूट पर उपलब्ध था।

 

क्या होता है एफपीओ

एफपीओ के जरिए कंपनी अपना फोलो ऑन पब्लिक ऑफर लेकर आती है। जो कंपनी पहले से शेयर बाजार में लिस्टेड हो, वो निवेशकों को नए शेयर ऑफर करती है। ये शेयर बाजार में मौजूद शेयरों के बजाय नये शेयर होते हैं। ये शेयर ज्यादातर प्रोमोटर्स बेचते हैं। वे इसके जरिए अपनी हिस्सेदारी कंपनी में कम करते हैं। सेबी के नियमों क अनुसार कंपनी के प्रमोटर एक सीमित हिस्सेदारी ही कंपनी में रख सकते हैं।

रुचि सोया का शेयर

रुचि सोया का शेयर 814.30 रु के पिछले बंद स्तर के मुकाबले आज 801 रु पर खुला और अभी तक (करीब डेढ़ बजे) तक के कारोबार में 977.15 रु तक ऊपर गया है। इस समय ये करीब साढ़े 8 फीसदी की तेजी के साथ 883.40 रु के भाव पर है। इसके 52 हफ्तों का शिखर 1,376.70 रु और निचला स्तर 629.15 रु रहा है।

सभी तरह की खबरों से जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़े

About Rahul

Check Also

Aishwarya Rai ने दिया एक और बच्चे को जन्म, दादा और अभिषेक की खुशी का ठिकाना नहीं, पूरे बच्चन परिवार में खुशी की लहर…

ऐश्वर्या राय (Aishwarya Rai) बच्चन परिवार की बहू बनने के बाद काफी ज्यादा चर्चा में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *