सनस्क्रीन का उपयोग करते समय इन गलतियों से बचें, बेहतर परिणाम प्राप्त करें

Avoid These Mistakes While Using Sunscreen, Get Better Results: बेशक गर्मी के मौसम में सनस्क्रीन यूज करना काफी कॉमन और आसान काम है. बावजूद इसके कई लोग सनस्क्रीन लगाने के सही तरीके से अंजान रहते हैं. जिसके चलते सनस्क्रीन आपकी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से नहीं बचा पाती है और आपका सनस्क्रीन लगाना पूरी तरह व्यर्थ हो जाता है.

गर्मी का मौसम आ चुका है और गर्मी लगातार बढ़ रही है। इस मौसम में घर से बाहर निकलने का मन नहीं करता है लेकिन ऐसा संभव नहीं है। अगर हम घर से बाहर कहीं जा रहे हैं तो अपनी स्किन की सुरक्षा का ध्यान रखना ही पड़ेगा। इसके लिए हम सनस्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं। सनस्क्रीन का उपयोग हमारी स्किन को धूप की हानिकारक किरणों से बचाता है। स्किन पर सनस्क्रीन लगाने से स्किन डल, ड्राई और डैमेज होने जैसी कई समस्याओं से बच जाती है

सिर्फ धूप में इस्तेमाल करना

अधिकतर लोगों का मानना होता है कि सनस्क्रीन सिर्फ धूप में हमारी स्किन की सुरक्षा करती है। इस गलती को न करें और चाहे कोई भी मौमस हो आप घर से निकलने से पहले सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करें। सनस्क्रीन हर मौसम में हमारी स्किन की सुरक्षा करती है।

डार्क स्किन पर सनस्क्रीन का इस्तेमाल न करना

डार्क स्किन वाले लोग सोचते हैं कि उन्हें सनस्क्रीन के उपयोग करने की जरूरत ही नहीं है। जबकि ऐसा नहीं है, क्योंकि सनस्क्रीन स्किन टोन को डार्क होने से नहीं बचाता है, बल्कि सनस्क्रीन धूप की हाानिकारक किरणों से स्किन से सुरक्षा करता है। इसलिए कोई भी स्कीन टोन पर धूप में निकलते समय सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए।

एसपीएफ का ध्यान न रखना

सनस्क्रीन खरीदते समय एसपीएफ (SPF) पर ध्यान देना बहुत जरूरी होता है लेकिन हम ऐसा नहीं करते हैं। एसपीएफ सूर्य की किरणों से बचाव का एक मानक शब्द है। यह एक रेटिंग फैक्टर है जो बताता है कि कोई सनस्क्रीन या सनब्लॉक आपको किस स्तर तक बचाव देता है। उदाहरण के तौर पर अगर किसी को एक घंटा धूप में रहने से सनबर्न होता है तो एसपीएफ 15 उसे 15 घंटे धूप में रहने की आजादी देगा, मतलब सनबर्न होने में 15 गुना ज्यादा समय लगेगा। मगर ऐसा तभी हो सकता है जब इन पूरे 15 घंटों में धूप का असर एक सा हो।

होंठ

होंठ हमारे चेहरे का सबसे नाजुक हिस्सा होते हैं और हमारे शरीर के बाकी हिस्सों की तरह ही सूर्य के रेडिएशन के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं. लोग अपने होंठ भूल जाते हैं और इन एरियाज में त्वचा कैंसर आसानी से हो सकता है. इसलिए या तो एसपीएफ वाले लिप बाम का इस्तेमाल करें या फिर अपने चेहरे के सनस्क्रीन को होठों पर लगाएं, ये वही काम करेगा.

पलकें

हमारी पलकों को भी सनब्लॉक की जरूरत होती है क्योंकि वो उम्र बढ़ने, महीन रेखाओं और झुर्रियों के लिए अतिसंवेदनशील होती हैं, त्वचा कैंसर का भी जिक्र नहीं है. हालांकि, बहुत से लोग आंखों में सामान जाने के डर से इस एरिया से बचते हैं लेकिन सही एप्लीकेशन और सही सनब्लॉक के साथ आप जाने के लिए अच्छे हैं. एक और टिप, अपनी सनस्क्रीन को घर छोड़ना न भूलें.

सभी तरह की खबरों से जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़े

About Rahul

Check Also

Aishwarya Rai ने दिया एक और बच्चे को जन्म, दादा और अभिषेक की खुशी का ठिकाना नहीं, पूरे बच्चन परिवार में खुशी की लहर…

ऐश्वर्या राय (Aishwarya Rai) बच्चन परिवार की बहू बनने के बाद काफी ज्यादा चर्चा में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *